The Leader Who Had No Title Hindi Book Summary|Robin Sharma

                      

Table of Contents

परिचय ( Introduction ):-

The Leader Who Had No Title Hindi Book Summary|Robin Sharma

          The Leader Who Had No Title.
क्या आपको लगता है कि आर्गेनाईजेशन में आपका काम मायने नहीं रखता ? क्या आपको लगता है कि लोग टॉप मैनेजमेंट को ही एक लीडर के रूप में देखते हैं ? क्या आप चाहते हैं कि लोग आपको पसंद करें और आपकी तारीफ़ करें ? तो इसका जवाब बड़ा ही सिंपल सा है , हर कोई लीडर होता है . इस क्वालिटी को बस अपने अंदर से उभार कर बाहर निकालने की देर है।

आपको लीडर होने के लिए किसी ख़ास टाइटल या ऑफिस में एक बड़े केबिन की ज़रुरत नहीं है,आपमें बस चुनौतियों का सामना करने की हिमात होनी चाहिए . लीडर वो होता है जिसे ख़ुद पर विश्वास होता है और जो अपने ज़ज्बे से दुनिया पर एक अमिट छाप छोड़ देता है ।

इस बुक में आप लीडरशिप के चार ऐसे प्रिंसिपल सीखेंगे जो आपकी बहुत मदद करेंगे . वो आपको एक कमाल का लीडर बनने में मदद करेंगे फ़िर चाहे आपके पास कोई स्पेशल टाइटल हो या ना हो . आप ये भी सीखेंगे कि अपने साथियों को कैसे इंस्पायर करें और एक्स्ट्राऑर्डिनरी काम करके एक स्टार की तरह चमकते रहे . ये चारों प्रिंसिपल्स कहानियों के रूप में पेश किए गए हैं और उनके कैरेक्टर ऑथर की इमेजिनेशन से आए हैं।

ये कहानी है ब्लेक डेविस की जो पहले एक सोल्जर थे और अब न्यू यॉर्क में रहते थे . उनकी जिंदगी में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा था और फ़िर उनकी मुलाक़ात एक गुरु और चार ऐसे टीचर्स से हुई जिन्होंने उनकी जिंदगी बदल दी।

Chapter 1 : Leadership & Success Are Your Birthright(नेतृत्व और सफलता आपका जन्मसिद्ध अधिकार है):-


ब्लेक का जन्म एक आम साधारण परिवार में हुआ था . उनके पेरेंट्स परफेक्ट नहीं थे लेकिन उनसे जितना भी हुआ उन्होंने ब्लेक के लिए वो सब कुछ किया . ये ह्यूमन नेचर है कि जो हमें सबसे ज़्यादा प्यार करते हैं हम उन्हें taken for granted ले लेते हैं यानी उनकी अहमियत नहीं समझते।

इसी तरह , ब्लेक को भी अपने माता पिता के गुज़र जाने के बाद इस बात का एहसास हुआ था . उनकी सोच और जिंदगी बदल गई थी। 20 साल की उम्र के आस पास ब्लेक ने कई जॉब बदले . उनके लिए जॉब बस समय काटने और रोज़मर्रा के ख़र्चों को उठाने का साधन था।

एक दिन , उन्होंने आर्मी ज्वाइन करने के बारे में सोचा ताकि वो ज़्यादा बिजी रह सकें और उनके आसपास ज़्यादा लोग हों । मिलिट्री की ट्रेनिंग से ब्लेक की जिंदगी में डिसिप्लिन आने लगा , मानो उनकी जिंदगी को किसी ने आकार दे दिया हो . ट्रेनिंग के बाद उन्हें इराक में जंग लड़ने के लिए भेज दिया गया।

जंग की दर्दनाक यादें ब्लेक के ज़ेहन में घर कर गईं और उन्हें रह रह कर परेशान करने लगी . उनके कई दोस्त जंग में बुरी तरह घायल हुए थे और कईयों ने अपनी जान गवा दी थी . ब्लेक को जैसे सदमा लगा था , वो इससे उभर नहीं पा रहे थे इसलिए उन्हें वापस घर भेज दिया गया।

अब वो दोबारा अपने घर में थे जहां बस अकेलापन और मायूसी थी . उनकी लाइफ में ना कोई मकसद था और ना ही कोई मिशन.खाली बैठे वो अक्सर सोचते रहते , “ काश मैं इराक की जंग में मर जाता तो कितना अच्छा होता ” . गनीमत है कि उनके माता पिताने उन्हें एक बहुत ही अच्छी आदत सिखाई थी।

जो था किताबें पढ़ना . मुश्किल समय से बाहर निकलने का सबसे अच्छा तरीका होता है सेल्फ़ – लर्निंग,इसलिए ब्लेक ने एक फेमस बुकस्टोर- “ ब्राइट माइंड बुक्स ” में काम करना शुरू कर दिया . उनके मैनेजर को उनके काम करने का तरीका ज़्यादा पसंद नहीं था लेकिन वहाँ के कस्टमर ब्लेक को पसंद करने लगे।

एक दिन , बड़ा ही अजीब आदमी स्टोर आया . उन्होंने ब्लेक के साथ जिंदगी के कई सबक शेयर किए जिसने ब्लेक की ज़िंदगी को पूरी तरह बदल दिया . हम सभी जीतने के लिए ही बने हैं।

ये सिर्फ़ आप पर डिपेंड करता है कि आप क्या चुनते हैं,मुश्किल दौर में या तो आप सिमट कर एक असहाय इंसान की तरह टूट सकते हैं या तो उससे निकलने के लिए मौके तलाशने में जुट सकते हैं जो आपको उस तकलीफ़ से उभरने के बाद और भी मज़बूत बना देता है।

Chapter 2 :एक लीडरशिप मेंटर से मेरी मुलाकात (My Meeting with a Leadership Mentor)

ब्लेक और उनकी टीम ने मंडे एक मीटिंग बुलाई . उनकेमैनेजर ने उन्हें सेल्स में गिरावट की जानकारी दी . उन्होंने ये भी announce किया कि वो जल्द ही बेस्ट एम्प्लोई ऑफ़ द इयर चुनने वाले थे और उसे जीतने वाले को तोहफे में एक बैज , कैश प्राइज़ और अरुबा में एक हफ़्ते का वेकेशन दिया जाएगा।

हमेशा की तरह , ब्लेक ज़रा भी excited नहीं थे क्योंकि उन्हें लगता था कि वो काम में कुछ भी अलग या ख़ास नहीं कर रहे थे . वो एक कोने में अकेले खड़े कॉफ़ी पी रहे थे तभी अचानक ब्लेक के कंधे पर किसी ने थपथपाया।

उन्होंने पीछे मुड़कर देखा , वहाँ एक बूढ़े आदमी खड़े थे, ब्लेक उन्हें देखकर हैरान रह गए , उस आदमी ने पुराने मैले कुचैलै से कपड़े पहन रखे थे लेकिन उनके पैरों में चमचमाते हुए नए जूते थे . उनके गले में एक चेन थी जिस पर LWT लिखा हुआ था . उन्होंने अपना नाम टॉमी फ्लिन बताया . टॉमी दूसरी लोकेशन पर उसी बुकस्टोर के एम्प्लोई थे।

लगातार पांच सालों तक उन्हें बेस्ट एम्प्लोई का अवार्ड मिला था . उन्होंने ये भी बताया कि वो ब्लेक के पिता ऑस्कर के दोस्त थे . ब्लेक ने अपने पिता के बारे में सोचा और उनका मन भर आया . टॉमी ने ब्लेक को दिलासा दिया और कहा , ” ऑस्करने मेरे मुश्किल वक़्त में मेरा बहुत साथ दिया है . वो कहते थे कि तुम में बहुत पोटेंशियल है।

ब्लेक लेकिन तुम अपना बेस्ट परफॉर्म नहीं करते . ” ये सुनकर ब्लेक में दिल में टॉमी के लिए जगह बन गई लेकिन उन्हें अब भी उन पर थोड़ा शक था . टॉमी ने कहा कि वो ब्लेक को लीडरशिप फिलोसोफी के बारे में बताने के लिए आए थे जो सालों पहले उन्हें चार टीचर्स ने सिखाया था।

उन लेसंस ने उनके अंदर के नेचुरल पॉवर को जगा दिया था . टॉमी की चेन पर जो LWT लिखा हुआ था उसने उनकी जिंदगी में एक बड़ा बदलाव किया था . अब वो ऐसा जीवन जी रहे थे जिसका उन्होंने हमेशा सपना देखा था।

Loading...

ये सुनने के बाद ब्लेक ने ताना मारते हुए पूछा , “ अगर ये सच है तो आप मेरी तरह एक स्टोर के मामूली क्लर्क क्यों हैं ? ” टॉमी ने बड़ी शांति से जवाब दिया , “ मैं ऐसी जॉब क्यों छोडूंगा जो मुझे बेहद पसंद है ? उम्र एक नंबर से ज़्यादा कुछ नहीं है।

इसके अलावा , मैनेजमेंट ने मुझे कई बार वाईस प्रेसिडेंट की पोजीशन ऑफर की लेकिन मैंने मना कर दिया . मुझे किसी भी तरह का टाइटल पसंद नहीं है . मेरे कहने का ये मतलब नहीं है कि किसी आर्गेनाईजेशन में कोई पोजीशन या टाइटल नहीं होनी चाहिए।

मेरा पॉइंट सिर्फ इतना है कि आर्गेनाईजेशन में हर इंसान अपने अपने पोजीशन का सीईओ होना चाहिए।

आश्चर्य की बात तो ये थी कि ब्लेक को ये फिलोसोफी काफ़ी दिलचस्प लगी . लीडरशिप पोजीशन या स्टेटस के बारे में नहीं है बल्कि ये इस बारे में है कि आप अपने जॉब में कितना अच्छा परफॉर्म कर रहे है।

ब्लेक ने टॉमी के विजिटिंग कार्ड पर जॉब टाइटल में “ ह्यूमन बीइंग ” लिखा हुआ देखा जिससे उन्हें थोड़ी हैरानी हुई.उनका रिएक्शन देखकर टॉमी ने समझाया कि एक लीडर होने से पहले आपको एक अच्छा और नेक इंसान होने की ज़रुरत है . टॉमी ने ये भी कहा कि तुम जितना कम इनाम पाने की चाहत रखोगे , तुम्हें उससे कहीं ज़्यादा ही मिलेगा।

हमेशा सेल्फ़लेस होकर अपना बेस्ट परफॉर्म करो और तुम्हे वो ज़रूर मिलेगा जिसके तुम हक़दार हो . पैसा इस SEW – Serious Exceptional Work का by प्रोडक्ट है बस . ” ब्लेक को ये जानने में ज़्यादा रूचि थी कि LWT का मतलब क्या था . इस बारे में बताने से पहले टॉमी ने ब्लेक से एक वादा करने को कहा कि वो इस कांसेप्ट को दूसरों के साथ भी शेयर करेंगे . इस बात के लिए ब्लेक तुरंत राज़ी हो गए।

Loading...

Chapter 3 : The Sad Costs of Mediocrity and the Spectacular Rewards of Leadership Mastery


ब्लेक उन चार टीचर्स से मिलने के लिए बहुत excited थे . वो सुबह 5 बजे टॉमी से मिलने कब्रिस्तान गए . टॉमी ने पहली मुलाक़ात के लिए कब्रिस्तान को चुना था क्योंकि उनका मानना था कि सिर्फ़ मौत ही ऐसा सच है जो एक इंसान को बदल देता है . सिर्फ अपने अंत के बारे में सोचकर आप अपनों की देखभाल करने लगते हैं।

जिंदगी की कद्र कर उसे बेहतर तरीके से जीने लगते हैं और कुछ ऐसा करने के बारे में सोचते हैं कि आपके जाने के बाद भी दुनिया आपको याद करे . ब्लेक समय पर टॉमी से मिलने पहुंच गए . वो उनकी गाड़ी देख कर हक्के बक्के रह गए।

उन्होंने टॉमी को कुछ दूर खड़े हुए देखा . ब्लेक ने अपनी गाड़ी पार्क की और उस ओर चल दिए . जब ब्लेक वहाँ पहुंचे तो चकित हो गए , वहाँ टॉमी दो कब्रों के सामने खड़े थे जिन्हें अभी अभी खोदा गया था . टॉमी ने समय पर आने के लिए ब्लेक की तारीफ़ की . फ़िर उन्होंने कहा , ” लीडर्स ऐसी चीजें करते हैं।

जो हारे हुए लोग कभी करने के लिए तैयार नहीं होते . हारे हुए लोग ये शिकायत करते हैं कि उन्हें कुछ करने के लिए समय नहीं मिलता जबकि लीडर्स हर दिन एक घंटे पहले उठकर कुछ ना कुछ कमाल कर जाते हैं,मेरा सिर्फ इतना मानना है कि जब आप मर चुके होंगे तब आपके पास सोने के लिए समय ही समय होगा लेकिन इस दुनिया में कुछ करने के लिए और एक गहरा असर डालने के लिए कभी – कभी ये समय ही कम पड़ जाता है।

अगर आप लगातार सही चीजें करते रहेंगे तो सक्सेस पाना बहुत आसान है . जब आप ख़ुद को आगे नहीं बढ़ा सकते तो आप अपने आस पास के लोगों को कभी कोई दिशा नहीं दिखा पाएँगे , आप कभी लीडर नहीं बन पाएँगे। ब्लेक इस बात से सहमत थे।

इसे भी पढ़े-Think And Grow Rich Book Summary In Hindi


टॉमी ने उन्हें अपनी चेन दी और बताया कि LWT का मतलब था “ Lead Without a Title . ” ब्लेक इस बारे में जानकार ख़ुश हुए लेकिन वो अभी भी उन दो कब्रों के बारे में सोच रहे थे.टॉमी ने उन्हें एक कब्र में कूदकर वहाँ रखे टैबलेट को उठाने के लिए कहा . ब्लेक ने टैबलेट पर लिखे कैपिटल लेटर्स को पढ़ना शुरू किया . उस पर लिखा था “ Ten Human Regrets ” यानी वो दस चीजें जिसके लिए इंसान के मन में अफ़सोस , पछतावा या होता है।

टॉमी ने समझाया कि जब आप अपने बिस्तर पर मौत का इंतज़ार कर रहे होंगे तब आपको इन दस बातों का अफ़सोस होगा . वो दस अफ़सोस कुछ इस तरह हैं।

1. जीवन का वोखूबसूरत गाना जो आपकी जिंदगी को गाना था , आपके अंदर ख़ामोश ही रह गया।

2. महान चीज़ों को करने के लिए कभी भी अपनी नेचुरल पावर्स को एक्सपीरियंस नहीं किया।

3. कभी भी एक एग्ज़ाम्पल सेट कर किसी को इंस्पायर नहीं किया।

4. कभी कोई रिस्क नहीं लिया इसलिए कभी इनाम नहीं मिला।

5. कभी आर्डिनरी और एवरेज सोच को नहीं छोड़ा और इस तरह कई सुनहरे मौकों को हासिल करने से चूक गए।

6. कभी भी किसी challenging सिचुएशन को जीत में बदलने की कला नहीं सीखी।

7. कभी भी दूसरों के काम में उनकी मदद नहीं की।

8. जिस तरह आप चाहते थे उस तरह जीवन नहीं जिया।

9. कभी भी अपने बेस्ट होने का एहसास नहीं हुआ।

10. कभी भी लीडर बनने की कोशिश नहीं की या दुनिया पर कोई छाप नहीं छोड़ी।

ब्लेक इसे पढ़कर चौंक गए . वो पछतावे सेभरे मन के साथ नहीं मरना चाहते थे . तब टॉमी ने उन्हें दूसरी कब्र में जाने के लिए कहा.वहाँ पहुँच कर ब्लेक देखते ही रह गए कि क्योंकि वहाँ एक असली सोने का टैबलेट पड़ा था जिस पर लिखा था “ Ten Human Victories ” यानी इंसान के दस जीत . वो जीत कुछ इस तरह हैं ।

1. आपने एक शानदार जॉब के लिए अपने टैलेंट और स्किल को अप्लाई किया।

2. आपने जिंदगी में जो भी काम किया उस काम में ऊँचा स्टैण्डर्ड बनाए रखा।

3. आपने अपनी बहादुरी और डर दोनों को खुलकर गले लगाया।

4. आपने लोगों को पीछे धकेलने के बजाय उनकी मदद की और उन्हें आगे बढ़ाया है।

5. आपने जिंदगी की ठोकर खाने के बाद भी हमेशा उठने का जज्बा बनाए रखा और कभी उम्मीद का दामन नहीं छोड़ा।

6. आपने कई लोगों के जीवन में वैल्यू add किया है

7 . आप एक पॉजिटिव इंसान थे जिसने हमेशा दूसरों को encourage किया।

8 . आप एक इनोवटर थे जिसने पुराने रास्तों को अपनाने के बजाय ख़ुद अपना नया रास्ता बनाया ।

9. आपने कई ऐसे रिश्ते कमाए जो लोग आपको प्यार करते हैं और आपका सम्मान करते हैं।

10 .आप एक रोल मॉडल हैं जिसने बिना किसी टाइटल के एक लीडर की भूमिका निभाई अब ये आपके ऊपर डिपेंड करता है कि जब आप आखरी सांसें ले रहे होंगे तब आप कैसा महसूस करना चाहते हैं।

अगर आप अब भी एक आर्डिनरी और एवरेज लाइफ जीना चाहते हैं तो आप पहले वाले कब्र में जाएँगे . लेकिन अगर आप एक्स्ट्राऑर्डिनरी का aim रखते हैं तब वो आपको उस गोल्डन टैबलेट वाले कब्र की ओर ले जाएगा।

मौत की भावना आपके माइंडसेट और नज़रिए को बदल देती है और आपके अंदर के लीडर को जगा देती है . LWT सिर्फ तभी आसान होगा जब आप सही काम करने के लिए फोकस्ड रहेंगे और बिना डगमगाए डट कर उस काम को करने में लगे रहेंगे जैसा कि महान लीडर्स करते हैं।

बहाने ढूँढने और दूसरों को दोष देने के बजाय चैलेंज का सामना करना शुरू करें , दूसरों की मदद करें , opportunities की तलाश करें और अपना काम बिना किसी शर्त के करते रहें . ये आप अपने इमोशंस , एनर्जी और पैशन को एक साथ मिलाकर कर सकते हैं तब जाकर असली बदलाव होता है।

Chapter 4 : The 1st Leadership Conversation : Youneed no title to be a leader(लीडर बनने के लिए आपको कोई टाईटिल नहीं चाहिए):-


ब्लेक और टॉमी मैनहैटन के लिए निकल पड़े,टॉमी ब्लेक को एक महंगे और आलिशान होटल में ले गए और उन्हें पहली टीचर एना से मिलवाया। एना अर्जेंटीना की थी जिसमें जोश कूट कूट कर भरा हुआ था।

जब वो बहुत छोटी थीं तब उनके माता पिता एक एक्सीडेंट में गुज़र गए थे . उनकी दादी ने उनका पालन पोषण किया . तभी से एना अपने हर रिश्ते को बहुत अहमियत देती थी,हालांकि एना सिर्फ एक हाउसकीपर थी लेकिन अपने व्यवहार और बैलेंस्ड attitude से वो किसी ब्रांड ambasador से कम नहीं थी।

इसलिए एना उस होटल की highest रेटेड एम्प्लाइज में से एक थी . एना ने एक खूबसूरत मुस्कान के साथ दोनों का स्वागत किया . ब्लेक ने एना से पूछा , “ जब सोसाइटी में हाउसकीपर का सम्मान नहीं किया जाता तो हाउसकीपिंग का जॉब exciting या रोमांचक कैसे हो सकता है ?

एना ने जवाब दिया , ” मुझे महसूस हुआ कि इस होटल को अच्छे से चलाने के लिए मेरा काम कितना ज़रूरी है . मैं अपना काम पूरी इमानदारी से करती हूँ और कोशिश करती हूँ कि हर पल अपना बेस्ट परफॉर्म करूँ . आपको जो पोजीशन या टाइटल दी जाती है उसके साथ एक पॉवर जुडी होती है लेकिन वो टाइटल छिन जाने पर या चली जाने पर वो पॉवर भी उस टाइटल के साथ वापस चली जाती है।

इसलिए अगर आप बिना किसी टाइटल के लीडर बनते हैं तो उससे जुडी पॉवर हमेशा आपके साथ बनी रहेगी ” . ब्लेक पूरी तरह इस बात को महसूस कर पा रहे थे क्योंकि वो ख़ुद को आर्मी में अपने रैंक की पॉवर के साथ जोड़ने लगे थे और जब वो अपनी नार्मल लाइफ में लौट कर आए तो उन्होंने ख़ुद को कमज़ोर और पॉवरलेस महसूस किया था।

एना ने उन्हें एक नैपकिन दिया जिस पर कुछ लिखा हुआ था . उस पर लिखा था ” 4 नेचुरल पॉवर(4 Natural Power) ” . हम सभी के पास पॉवर है।

1. हर दिन काम पर जाएं और कमाल का परफॉर्म करे . ऐसा करने के लिए आपको किसी टाइटल की ज़रुरत नहीं है एक एग्ज़ाम्पल सेट कर दूसरों को इंस्पायर और इन्फ्लुएंस करें . ऐसा करने के लिए आपको टाइटल की ज़रुरत नहीं है।

3. नेगेटिव सिचुएशन में पॉजिटिव बदलाव लाएं . इसके लिए आपको किसी टाइटल की ज़रुरत नहीं है।

4. सभी के साथ सम्मान और kindness से पेश आकर आर्गेनाईजेशन का कल्चर ऊँचा करें,ऐसा करने के लिए आपको टाइटल की ज़रुरत नहीं है।

फ़िर एना ब्लेक को एक बड़े शानदार बाथरूम की ओर ले गई और उन्हें शीशे पर लाल लिपस्टिक से लिखे हुए शब्दों को पढ़ने के लिए कहा . वहाँ IMAGE लिखा हुआ था.टॉमी ज़ोर से खांसने लगे।

एना ने उन्हें पानी के लिए पूछा . टॉमी के बेहतर महसूस करने के बाद , एना ने “ Lead Without a Title ” यानी बिना टाइटल के लीड करने की फिलोसोफी के पहले प्रिंसिप्ल के बारे में समझाया जो था “ आपको एक लीडर बनने के लिए किसी टाइटल की ज़रुरत नहीं है।

इस प्रिंसिप्ल के पांच रूल थे जिन्हें अप्लाई कर इसे सीखा जा सकता था।

I-Innovation(नवोन्मेष)-

हर दिन अपने काम काम में छोटे छोटे इम्प्रूवमेंट करते रहें . बड़े सपने देखें लेकिन छोटे बदलाव से शुरुआत करें ।

M- Mastery(रहस्य):-

FMOB को फॉलो करें जिसका मतलब होता है ,
Be the First , the Most , the Only , and the Best . आप जो भी करते हैं उसमें आपकी मास्टरी होनी चाहिए इसलिए प्रैक्टिस करते रहें . वर्ल्ड में सबसे बेस्ट बनने का aim रखें।

A – Authenticity(सत्यता):-

आप जैसे हैं वैसे ही सच्चे बने रहे , दिखावे से ख़ुद को दूर रखें और जिस बात पर आप सच में विश्वास करते हैं वो कहें . अपने टैलेंट और वैल्यूज के प्रति सच्चे रहकर अपने आस पास के लोगों को पॉजिटिव तरीके से इन्फ्लुएंस करें।

G – Guts(हिम्मत):-

जैसे – जैसे आप ग्रो करेंगे , चीजें गलत भी होंगी और आपको फेलियर का सामना भी करना पड़ेगा . यहाँ तक कि आपके आस पास के लोग भी आपको रोकने की और आपकी हिम्मत तोड़ने की कोशिश करेंगे लेकिन आपको एक नए सिरे से शुरुआत कर उठने की और ख़ुद को मोटीवेट करने की ज़रुरत है।

E- Ethics(आचार विचार):-

इमानदारी का रास्ता अपनाएं . अगर आप सही काम करेंगे और सही रास्ते पर चलेंगे तो आप कभी भी गलत नहीं हो सकते . इसके साथ एना ने कहा , “ ब्लेक तुम एक महान लीडर बनोगे सिर्फ़ इस फिलोसोफी को हमेशा याद रखना।

अपने अंदर के नेचुरल पॉवर को समझें , ये आपको चैलेंज का सामना करने में मदद करेंगे . अपने काम की ख़ुद ज़िम्मेदारी लेना सीखें और एक लीडर के रूप में आगे बढ़ें . अपने डेली काम में छोटे – छोटे इनोवेशन लाने की कोशिश करें।

जब आप अपने दिए हुए टाइटल की बाउंड्री को तोड़ना सीख जाएंगे तभी आप एक लीडर बन सकते हैं . ये ना सिर्फ आपकी जिंदगी को बदलने वाला है बल्कि ये आपके आस पास के लोगों की जिंदगी भी बदलने वाला है।

Chapter 5 : The 2nd Leadership Conversation : Turbulent Times Build Great Leaders:-


टॉमी ने न्यू यॉर्क सिटी के ट्राईबेका इलाके में कार पार्क की . वो ब्लेक तो दूसरे टीचर – टाई बोयड से मिलाने एक स्की शॉप में ले गए.एक ज़माने में टाई पांच बार वर्ल्ड स्कीइंग चैंपियन रह चुके थे . एक एक्सीडेंट के बाद , उन्होंने दुनिया भर के कई स्की रिसोर्ट में स्कीइंग इंस्ट्रक्टर के रूप में काम किया था।

बाद में टाई ने अपनी स्की की दूकान खोली और ट्राईबेका में बस गए . हालांकि इस काम से उन्हें बहुत कमाई नहीं होती थी लेकिन वो इस बात से ख़ुश थे कि वो ऐसा काम कर रहे थे जिससे उन्हें प्यार था . टाई ने ब्लेक और टॉमी को बड़े प्यार से गले लगाकर स्वागत किया।

उन्होंने सेकंड प्रिंसिप्ल शेयर किया जो था Difficult Times Build Great Leaders यानी सबसे मुश्किल समय ही महान लीडर्स बनाते हैं . टाई ने समझाया कि आज बिज़नेस की दुनिया में सब कुछ बदल रहा है . अगर आप आँखें बंद कर बिना कोशिश किए प्रॉब्लम के ख़त्म होने का इंतज़ार करते रहेंगे तो आप बहुत जल्द मार्केट से गायब हो जाएँगे।

इसे भी पढ़े-You Can win(जीत आपकी)Book Review In Hindi

लेकिन अगर आपने अपने डर का सामना करना चुना तो आपकी बाउंड्री आगे बढ़ जाएगी , आप सीमित नहीं होंगे . मुश्किल वक़्त हमें अपनी पोटेंशियल को बेहतर रूप से समझा देता है . इसके साथ ही मुश्किल समय ही हमें वो गोल्डन opportunity देता है जो हमारी जिंदगी पूरी तरह से बदल सकता है।

अपने आस पास हो रहे बदलाव को अपनाना सीखें और ख़ुद भी बदलाव लाने की कोशिश करें . हो सकता है कि लोग आप पर हंसें लेकिन हिम्मत के साथ KMF को फॉलो करें यानी Keep Moving Forward . टॉमी फ़िर से बीमार महसूस कर रहे थे।

उन्हें सांस लेने में तकलीफ़ हो रही थी . लेकिन कुछ देर बाद वो बेहतर महसूस करने लगे.इस दूसरी प्रिंसिप्ल का ख़ास शब्द था SPARK . टाई ने SPARK के पांच रूल्स को समझाया।
SPARK का मतलब था।

S- Speak with candor(स्पष्टता के साथ बोलना):-

दूसरों को इंस्पायर करने के लिए कम्यूनिकेट करें . बातें छुपाएं नहीं , खुलकर बोलें और सच बोलें . पहले हो सकता है कि लोगों को आपकी सच्ची बातें पसंद ना आएं लेकिन बाद में वो इसकी तारीफ़ करेंगे।

P – Prioritize(-प्राथमिकता):-

इम्पोर्टेन्ट एक्टिविटीज पर फोकस कर उन्हें बेस्ट तरीके से परफॉर्म करें . अपना टाइम , टैलेंट और एनर्जी उसमें लगाएं ।

A- Adversity creates Opportunity(प्रतिकूलता अवसर पैदा करती है):-

एक मुश्किल सिचुएशन में ही बड़ी opportunity छुपी होती है . कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि वो सिचुएशन कितनी डरावनी है , आपको उसका सामना करने के लिए बहादुर होना होगा।

R- Response vs React –

प्रेशर की सिचुएशन में लोग नेगेटिव तरह से रियेक्ट करते हैं . एक सच्चा लीडर वो होता है जो डर कर चुपचाप खड़े रहने के बजाय शांति और समझदारी से उस सिचुएशन का हल निकालने में माहिर होता है।
वो बेवजह रियेक्ट नहीं करता बल्कि सही तरीके से respond करता है और challenging सिचुएशन में लोगों को लीड करता है।

K- Kudos(यश):-

जब कोई अच्छा काम करे तो उनकी तारीफ़ करें . अपने साथियों की तारीफ़ करने के लिए अपने मैनेजर का इंतज़ार ना करें . आप भी उनकी पीठ थपथपा सकते हैं।एक लीडर मुश्किल समय में भी एक तारे की तरह चमकता रहता है . वो सिचुएशन से डर कर भागता नहीं बल्कि उसे मुहंतोड़ जवाब देकर लोगों को इंस्पायर करता है . तेज़ी से बदलाव आपको डरा सकते हैं लेकिन अगर आपने अपने डर को काबू में कर लिया तो आप ज़रूर जीतेंगे . आपको जितनी ज़्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा आपको उतनी ही ज़्यादा ख़ुदकी ताकत के बारे में पता चलेगा।

Chapter 6 : The 3rd Leadership Conversation : The Deeper Your Relationships , the Stronger Your Leadership(गहरा आपका रिश्ता, मजबूत आपका नेतृत्व):-

इसके बाद टॉमी और ब्लेक न्यू यॉर्क पब्लिक लाइब्रेरी पहुंचें . वो दोनों लाइब्रेरी की छत पर गए , वो एक ऐसी जगह थी जिसके बारे में ब्लेक को पता नहीं था . वहाँ से आसमान का नज़ारा देखने लायक था . चारों ओर सुंदर फूल खिले हुए थे . उनकी भीनी – भीनी सुगंध हवा में घुली हुई थी . टॉमी ने ब्लेक को जैक्सन चैन से मिलाया . कुछ साल पहले , जैक्सन शंघाई में एक सीईओ थे।

एक बार वो न्यू यॉर्क घूमने आए थेऔर उन्हें उस शहर से प्यार हो गया . तभी से उन्होंने वहाँ रहने और गार्डनिंग के अपने शौक को पूरा करने का फैसला किया . यही कारण था कि जैक्सन पब्लिक लाइब्रेरी में एक gardener के रूप में काम कर रहे थे . जैक्सन ने उनका स्वागत किया . उन्होंने ब्लेक से कहा कि जो प्रिन्सिप्ल वो सिखाने वाले थे वो आज की इस दौड़ती हुई दुनिया में जैसे गुम साहो गया था . ये लोगों के साथ जुड़ने और उनकी लाइफ में वैल्यू जोड़ने के बारे में था।

तीसरा प्रिन्सिप्ल है ‘The Deeper Your Relationships are , The Stronger Your Leadership will be, यानी जितने गहरे आपके रिश्ते होंगे उतनी ही मज़बूत आपको लीडरशिप होगी . आज लोग रिश्तों के सही मायने भूल गए हैं . सब बस एक दूसरे से मुकाबला करने में लगे हुए हैं . लेकिन एक आर्गेनाईजेशन में हर एक इंसान मायने रखता है।

इसलिए सभी को एक दूसरे से जोड़कर रखना बहुत ज़रूरी है . अपने साथियों , कस्टमर्स , shareholders के साथ एक मज़बूत रिश्ता बनाने के लिए आपको पहला कदम उठाना चाहिए . लोगों के साथ एक कनेक्शन बनाने में बहुत एफर्ट और पेशेंस की ज़रुरत होती है लेकिन एक बार जब वो bond बन जाता है।


तो आप अपने पन की भावना महसूस करेंगे . इस प्रिंसिप्ल का शब्द था ‘HUMAN’

H- Helpfulness(सहायता):-

लोगों को उनकी लाइफ में आगे बढ़ने में मदद करें और आपकी कंपनी आपको जितने पैसे देती है उससे ज़्यादा कंपनी को लौटाकर आप कंपनी में अपना योगदान दें।

U– Understanding(समझदारी):-

लोगों को समझने के लिए अपने सुनने की स्किल को develop करें . अपने कान और दिल खोलकर लोगों को सुनें।

M- Mingle(आपस में मिलना):-

अपने कम्फर्ट ज़ोन से बाहर आकर लोगों के साथ जुड़कर नेटवर्क बनाएं . हर लेवल पर लोगों के साथ जुडें।

A- Amuse(मन को ख़ुश रखना):-

अपने काम को एन्जॉय करें . अपने काम का माहौल ऐसा बनाएं जहां लोगों को काम करना अच्छा लगता हो और जहां सिर्फ काम का प्रेशर ना हो . ये आपके साथियों के एनर्जी लेवल को बढ़ाएगा जिससे उनकी प्रोडक्टिविटी बढ़ेगी।

N – Nurture(पालन – पोषण करना):-

हर किसी में एक यूनिक क्वालिटी छुपी होती है . लोगों की बेस्ट क्वालिटी को ढूंढ कर उसे टीम की सक्सेस के लिए develop करें . एक लीडर का अपने लोगों के साथ एक ट्रांसपेरेंट और पॉजिटिव रिश्ता होना चाहिए . याद रखें , जितना ज़्यादा आप उन्हें उनके गोल्स हासिल करने में मदद करेंगे उतना ही ज़्यादा वो आपको आपके गोल्स अचीव करने में मदद करने के लिए तैयार होंगे।

आजकल लोग सिर्फ़ उनके साथ अच्छे होते हैं जो उनके साथ अच्छा व्यवहार करते हैं . लेकिन आपको हमेशा अच्छे और supportive बने रहना चाहिए जितना ज़्यादा आप दूसरों के अंदर के लीडर को जगाएँगे उतना ज़्यादा वो आपको एक लीडर के रूप में एक्सेप्ट करेंगे।

Chapter 7 : The 4th Leadership Conversation : To be a Great Leader , First become a Great Person( एक महान नेता बनने के लिए, पहले एक महान व्यक्ति बनें):-


इसके बाद टॉमी और ब्लेक चौथे टीचर से मिलने चल दिए . टॉमी ने कहा , ” ब्लेक अब तुम आखरी टीचर से मिलने वाले हो , इसके बाद तुम अपने अंदर के लीडर की पॉवर को बाहर निकालने के लिए तैयार हो जाओगे और हमारा एक दूसरे के साथ वक़्त ख़त्म हो जाएगा।

ब्लेक को टॉमी की बात सुनकर बड़ा अटपटा लगा . उनकी समझ में नहीं आया कि टॉमी ने ऐसा क्यों कहा ? टॉमी ने ब्लेक को जेट ब्रिस्ली नाम के एक प्रोफेशनल massage थेरपिस्ट से मिलवाया . जेट शहर के जाने माने थेरेपिस्ट में से एक थे . वो वही करते थे जो सही होता था , यही उनकी लाइफ का मंत्र था . जेट ने दोनों को गले लगाकर स्वागत किया .

चौथा प्रिंसिप्ल था To Be aGreat Leader , Become a Great Person First . Erich महान लीडर बनने से पहले एकमहान इंसान बनें . अपने काम में एक्स्ट्राऑर्डिनरी परफॉर्म करने के लिए अपने आप को अपग्रेड करने और कुछ तैयारी करने की ज़रुरत होती है।

Loading...

अपने माइंड और बॉडी पर फोकस करना बहुत ज़रूरी है . आपको अपने अंदर से नेगेटिव थॉट्स को निकालकर और पुरानी बातों को भुलाकर आगे बढ़ने की सोच रखनी चाहिए . बड़े दुःख की बात है कि आज लोगों ने अपनी खुशियों को दुनिया की सुख सुविधा देने वाली चीज़ों से जोड़ दिया हैं।

जैसे – लक्ज़री कार , आलिशान घर , महेंगे गैजेट्स . लेकिन क्या ये सब आपको सच में ख़ुशी देते हैं ? ये सब खरीदने में कोई बुराई नहीं है लेकिन इन चीज़ों की लत लग जाना या इनका जुनून सर पर सवार हो जाना बिलकुल ठीक नहीं है . जो आप असल में हैं वो बनने पर ध्यान दें नाकि जो आपके पास है उसके जैसा बनने की कोशिश करें।

एक महान इंसान बनने के लिए खुद को आज से भी बेहतर बनाने की कोशिश करें . इस प्रिंसिप्ल का शब्द है,SHINE

S- See Clearly(साफ़ नज़रिया):-

लोगों का एक ही चीज़ को देखने का अलग – अलग नज़रिया होता है . ऐसा इसलिए है क्योंकि उनका नज़रिया उनके माइंडसेट पर डिपेंड करता है.इसलिए हर सिचुएशन को साफ़ – साफ़ देखने की कोशिश करें।

H- Health is Wealth(स्वास्थ्य ही धन है):-

अपनी हेल्थ पर फोकस करें . सही समय पर सही क्वांटिटी में अच्छी चीजें खाएं . एक्सरसाइज करने के लिए भी समय निकालें।

I- Inspiration(प्रेरणा स्त्रोत):-

वो काम करें जो आपको इंस्पायर करते हों . ये आपके माइंड , बॉडी और इमोशंस को दोबारा चार्ज कर एनर्जी से भरने जैसा है ।

Loading...

N- Neglect Not(नजरअंदाज न करना):-

काम के चक्कर में अपनों को कभी नज़रंदाज़ ना करें.परिवार हमारी जिंदगी में बहुत अहमियत रखते हैं . वो हमें इमोशनल सपोर्ट देते हैं।

E- Elevate your lifestyle( अपनी जीवन शैली को ऊंचा करें):-

अपनी लाइफस्टाइल को बेहतर बनाने की कोशिश करें। comfortably रहने में कोई बुराई नहीं है . लेकिन हमेशा अपने काम में अपना बेस्ट परफॉर्म करने का गोल बनाए रखें . आपके पास एक ऐसा पर्पस होना चाहिए जो आपकी निजी इच्छाओं से भी बड़ा हो।

टॉमी फ़िर से खांसने लगे . उनके मुहं से खून आ रहा था और वो बुरी तरह कांप रहे थे . वो धीरे से बस इतना कह पाए , ” अब मेरा समय है ” . उनकी सांसें बंद हो गई ब्लेक अब उन्हें दोबारा कभी नहीं देख पाएँगे . आप एक अच्छे लीडर तभी बन सकते हैं जब आप अपनी सेहत पर ध्यान देते हैं।

एक healthy लाइफस्टाइल अपनाएं . अच्छी तरह से खाएं , हर दिन एक्सरसाइज करें , ख़ुद को मोटीवेट करें , पॉजिटिव सोच बनाए रखें और बीती बातों को भुलाकर आगे की ओर बढ़ने का नज़रिया अपनाएं . कम्फ़र्टेबल तरीके से जीने में कोई बुराई नहीं है।


जैसे हर रोज़ अपने घर की सफ़ाई करते हैं ठीक वैसे ही रोज़ अपने मन की सफ़ाई करें . ये आपको चीज़ों को देखने का एक क्लियर और पॉजिटिव नज़रिया देगा . पहले ख़ुद अपना रास्ता बनाकर आगे बढ़ें तभी आप दूसरों को लीड कर पाएँगे।

Chapter 8 : Tommy’s last words to Blake(ब्लेक को टॉमी के अंतिम शब्द):-

Loading...

टॉमी के गुज़र जाने की खबर से ब्लेक को बहुत धक्का लगा था . उन्होंने ब्लेक को कभी नहीं बतायाकि वो कई सालों से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से जूझ रहे थे . ब्लेक के लिए इस बात को स्वीकार करना बेहद मुश्किल था किटॉमी अब इस दुनिया में नहीं थे।

उन्होंने तो सोचा था कि वो आने वाले कई सालों तक साथ में काम करने वाले थे . टॉमी के अंतिम संस्कार में चारों टीचर एना , जैक्सन , जेट और टाई मौजूद थे . सब लोगों के श्रधांजलि देने के बाद , एना ने ब्लेक को एक पैकेज दिया जो टॉमी उनके लिए छोड़ गए थे।

ब्लेक ने उसे खोले , उसमें एक लैटर के साथ चाबियों का एक सेट था . टॉमी ने लैटर में लिखा था , ” अपनी बीमारी के बारे में कुछ ना बताने के लिए माफ़ी चाहता हूँ . मैं नहीं चाहता था कि मेरी मौत से तुम निराश हो जाओ . इसके बजाय मैं चाहता हूँ कि LWT प्रिंसिप्ल से तुमें inspiration मिले , तुम फोकस करना सीखो और डट कर इस प्रिंसिप्ल को अपनी जिंदगी में लागू करो।

मैं चाहता हूँ कि तुम इन चार प्रिंसिपल्स को ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुँचाओ . तुम्हारे माता पिता को तुम पर बहुत गर्व था ब्लेक . अपना वादा निभाओ और बिना किसी टाइटल के एक लीडर बनो . ” वो चाबियाँ टॉमी की Porsche कार की थी।

ब्लेक को कार देखकर विश्वास नहीं हो रहा था.टॉमी ने उनके एक सपने को सच कर दिया था . ब्लेक का मन टॉमी के लिए प्यार और सम्मान से भर गया , वो टॉमी केइस तोहफ़े के लिए शुक्रगुज़ार थे . टॉमी और उनके चार टीचर्स द्वारा सिखाए गए सबक ने ब्लेक की जिंदगी और मन को खुशहाली और शांति से भर दिया था और एक दिन ऐसा भी आया जब वो “Bright Mind Books ” बुक स्टोर के सबसे कम उम्र के वाईस – प्रेसिडेंट बने।

निष्कर्ष ( Conclusion ):-

तो आपने इस बुक में बिना किसी टाइटल के एक लीडर बनने के बारे में सीखा.अगर टाइटल के साथ लीडर बनेंगे तो टाइटल के चले जाने के बाद वो पॉवर भी आपसे दूर चली जाएगी.इसलिए बिना किसी टाइटल के लीडर बनें।

आपने LWT फिलोसोफी के चार प्रिंसिपल्स के बारे में सीखा जो हैं : पहला , एक लीडर बनने के लिए आपको किसी टाइटल की ज़रुरत नहीं है।
दूसरा , मुश्किल समय ही महान लीडर्स को बनाते हैं
तीसरा , जितने ज़्यादा गहरे आपके रिश्ते होंगे उतनी ही ज़्यादा मज़बूत आपकी लीडरशिप होगी।

चौथा , एक महान लीडर बनने से पहले एक अच्छे और महान इंसान बनें . हर रोज़ इन प्रिंसिपल्स को अप्लाई करने के लिए वो चार जादुई शब्द याद रखिएगा जो हैं IMAGE , SPARK , HUMAN और SHINE . कहते हैं कि ज्ञान बांटने से बढ़ता है।

SPARK , HUMAN और SHINE . कहते हैं कि ज्ञान बांटने से बढ़ता है इसलिए अब समय आ गया है कि आप बिना टाइटल के लीडर बनकर इस आईडिया को दूसरों के साथ शेयर करें।

लीडरशिप का मतलब है जब कोई गलती करे तो उसे टोकना और सही रास्ता दिखाना , लीडरशिप का मतलब है मुश्किल दौर में डट कर खड़े रहना और उसे पॉजिटिव दिशा में मोड़ देना . मुश्किल समय से पार पाने का सीक्रेट है बस आगे बढ़ते रहो.अच्छे होने का मतलब कमज़ोर होना नहीं होता . बीते समय में फँस कर आप कभी एक सुनेहरा फ्यूचर नहीं बना सकते।

इसलिए बीती बातों को भूल कर आगे बढ़े . लोगों को इंस्पायर करें और पूरी जोश के साथ अपना काम करते रहें फ़िर चाहे जो भी आपका प्रोफेशन या जॉब टाइटल हो।

अपने अंदर के लीडर को जगाएं . अगर आप ऐसा करते हैं तो आप एक ख़ुशहाल और मीनिंगफुल लाइफ को भरपूर जी पाएँगे . एक टाइटल आपको कभी रिस्पेक्ट नहीं दिलवा सकता , वो सिर्फ़ आपको अथॉरिटी देता है।

अपना रास्ता बनाकर पहले ख़ुद के लीडर बने तभी आप दूसरों के लीडर बन पाएँगे.एक बात हमेशा याद रखें , आप एक लीडर हैं , चाहे आप लाइफ में जो भी करते हों फ़िर चाहे वो किसी टाइटल के साथ हो या उसके बिना , आप फ़िर भी एक लीडर हैं।

This Post Has One Comment

  1. Armaan

    Nice summary.

Leave a Reply