Elon Musk Biography In Hindi By Ashlee vance

एलन की दुनिया

Elon Musk Biography In Hindi By Ashlee vance
Elon Musk
Elon musk

साल 2000 में सिलिकोन वैली और सेन फ्रेंसिस्को डीप्रेशन में डूबे हुए थे क्योंकि इन्टरनेट का नशा उतरने लगा था । अब जमाना डॉट कॉम का था जिसके चलते वेंचर केपिटलिस्ट किसी भी इन्वेस्ट में पैसा लगाने से कतरा रहे थे । इस दौर में सिलिकोन वैली के पास सिर्फ एक क्लीक एड्स का काम ही बचा था । ट्विटर और फेसबुक ने अभी – अभी पैर पसारने शुरू किये थे । कुछ लोगो का मानना था कि टेक्नोलोजी इंडस्ट्री अब ठंडी पड चुकी है । एलन मस्क भी इसी डॉट कॉम मेनिया का एक हिस्सा थे । अपनी कॉलेज की पढ़ाई खत्म करने के बाद उन्होंने ज़िप 2 बनाया और $ 22 मिलियन कमाए । ज़िप 2 गूगल मैप्स की ही तरह का एक सॉफ्टवेयर था । कॉमपेक ने ज़िप 2 को 1999 में खरीदा था । मस्क ने इस कमाई को एक और स्टार्ट – अप X.com खोलने के लिए इन्वेस्ट किया जो बाद में पे – पाल बना । और फिर जब 2002 में ई – बे ने पे – पाल ( Pay Pal ) खरीदा तो मस्क पहले से ज्यादा अमीर हो गए । मस्क सिलिकोन वैली के बजाए लॉस एंजेल्स में रहने चले गए थे , जहाँ पर उन्होंने टेस्ला , स्पेस एक्स और सोलर सिटी बनाई । उनकी कंपनीज़ ELECTRIC CARS , एरोस्पेस और सोलर इंडस्ट्रीज में लीड करती है । राकेट , इलेक्ट्रिक कार और सोलर पैनल बनाकर मस्क ने फ्यूचर को बदल कर रख दिया|

एलन की दुनिया में रियलिटी और साइंस फिक्शन मिलकर एक हो गए है । एलन मस्क बाकी टेक्नोलोजी मिलेनियर से हटकर है । उनका सोच विश्वव्यापी है । मस्क कहते है ” अगर हम कभी ना खत्म होने वाली वाली एनर्जी का हल ढूंढ ले और मल्टी प्लानेटेरी स्पीसीज़ बनने की राह में तरक्की कर ले ।।। तो ये वाकई में बहुत बढ़िया बात होगी ” । आज मस्क कंपनी मे हज़ारो लोग काम करते है जिसका नेट वर्थ $ 10 बिलियन है ।
अफ्रीका

मस्क के नाना जोशुआ हेल्डीमेन केनेडा से साउथ अफ्रीका तक खुद का जहाज उड़ाया करते थे । वे माइग्रेट होने के बाद अपने पूरे परिवार सहित हमेशा के लिए प्रेटोरिया में सेटल हो गए थे मगर कभी – कभी वे लोग नोर्वे , स्कॉट और आस्ट्रेलिया जाया करते थे । मेये हेल्डीमेन ( Maye Haldeman ) और एरोल मस्क बचपन से ही एक दुसरे को चाहते थे । जब वे बड़े हुए तो दोनों ने शादी कर ली और उसके बाद जल्द ही एलन का जन्म हुआ । मस्क 28 जून , 1971 को पैदा हुए थे । उनके पिता एरोल मस्क एक सक्सेसफुल इंजीनियर थे वहीँ माँ मेये ( Maye ) एक डाइटीशिएन थी । एलन के अलावा उनके दो बच्चे और थे , किम्बल और टोस्का । एलन अभी सिर्फ 5 साल के ही थे जब उनकी काबिलियत दिखने लगी थी । वे घंटो किताबो में डूबे रहते । ” द लार्ड ऑफ़ द रिंग्स ” और ” द हिचहाइकर ” स गाइड to गेलेक्सी ” उनकी पसंदीदा किताबे थी । उनके पास एनसाइक्लोपीडीयया के दो बड़े सेट रखे थे जिन्हें वो तब पढ़ते जब पढने के लिए किताबे ख़त्म हो जाती थी । मस्क परिवार एक खुशहाल परिवार था । प्रेटोरिया में उनके पास बहुत बड़ा घर था । मगर एलन जब आठ साल के हुए तो उनके माँ – बाप का तलाक हो गया था ।

वे और उनके भाई किम्बल अपने पिता के साथ रहने लगे । उनके पिता खुशमिजाज़ नहीं थे इसलिए एलन को कभी भी अपना बचपन खुशहाल नहीं लगा । एलन जब 10 साल के थे जब उन्होंने पहली बार कंप्यूटर देखा । वे इसे देखकर इतने हैरान हुए कि उन्होंने अपने पिता से अपने लिए एक कंप्यूटर खरीदने की जिद की । और जब उनके पिता उनके लिए कंप्यूटर लेकर आये तो पूरे तीन दिनों मे ELON ने बेसिक प्रोग्रमिंग सीख ली । एलन अपने भाई किम्बल और कज़न पीटर , लेंडन और रस रिवे के बेहद करीब थे । वे उनके साथ मिलकर होम मेड राकेट और एक्सप्लोसिव बनाया करते थे । उन सबको एक साथ लंबी ट्रेन ट्रिप्स पे जाना और डनजियंस और ड्रेगन्स खेलना भी बहुत पसंद था । पर जब एलन स्कूल जाने लगे तो वहां उन्हें कुछ अलग ही अनुभव हुए । स्कूल में उन्हें अक्सर बुल्ली किया जाता था । एक बार उनके साथ ऐसा दर्दनाक हादसा हुआ जिससे उन्हें गहरा सदमा लगा । एलन सीडीयों पर बैठे कुछ खा रहे थे जब एक लडके ने उन्हें पीछे से सर पर लात मारी और एक जोर का धक्का दिया । इस धक्के से एलन सीडीयों से गिर पड़े । उसके बाद उस लड़के ने उन पर मुक्को की बरसात शुरू कर दी । उन्हें इतनी चोट आई कि तुरंत उन्हें अस्पताल ले जाना पड़ा । खून से उनका बदन सन गया था । उन्हें पूरी तरह ठीक होने में पूरा एक हफ्ता लगा और उसके बाद ही वे स्कूल जाने लायक हुए । पूरे चार सालो तक एलन उसी खौफ के साए में जीते रहे । स्कूल का वो बदमाश गेंग बेवजह ही एलन को हर वक्त परेशान किया करता था ।

आखिरकार उन्होंने उन्हें अपना स्कूल बदलना पड़ा । जब एलन 17 साल के हुए तो उन्होने साउथ अफ्रीका छोड़ कर जाने का मन बनाया । उन्हें लगता था कि अमेरिका में उन्हें अपने लिए बेहतर मौके मिल सकते है । साथ ही उन्हें सिलिकोन वैली भी पसंद थी । जब उनके परिवार को केनेडा की सिटीजनशिप मिली तो एलन को निकल भागने का एक मौका मिल गया था ।
केनेडा

Loading...

केनेडा में अपने शुरुवाती दिनों में मस्क को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा । जब वे घर से केनेडा जाने के लिए निकले तो उनके पास वहां रहने का कोई ठिकाना नहीं था । उन्होंने वहां अपने कुछ रिश्तेदारों को खोजा और किसी तरह रहने का बंदोबस्त किया । अपना 18 वा जन्मदिन उन्होंने कुछ पड़ोसियों और रिश्तेदारों के साथ मनाया जिन्हें वे ठीक से जानते तक नहीं थे । इस दौरान मस्क ने कुछ ओड जॉब्स भी की जैसे कि सब्जिया वगैरह ले आना और लकड़ियाँ काटना । उनके भाई किम्बल भी बाद में उनके पास केनेडा आ गए । साल 1989 में मस्क ने क्वीन्स युनिवेर्सिटी ओंटारियो ( Queen’s University Ontario ) में दाखिला लिया जहाँ पर उनकी मुलाकात अपनी पहली पत्नी जस्टिन विल्सन से हुई । पहली डेट के लिए जस्टिन ने उन्हें बहुत तरसाया था मगर मस्क भी कम जिद्दी नहीं थे । जस्टिन ने बाद में कहा कि ” वो किसी को भी अपना दीवाना बना सकते है ” । कॉलेज की पढ़ाई ने मस्क की जिंदगी में बहुत से बदलाव लाए । वे अभी भी स्पेस और एनर्जी की बाते किया करते थे जिसका उनके क्लासमेट मज़ाक उड़ाया करते । मस्क उन लोगो से मिले जिनसे उनके विचार मिलते थे । अपने खाली वक्त में वे कंप्यूटर ठीक किया करते जिससे उनकी कुछ एक्स्ट्रा कमाई हो जाती । वे अपने क्लास मेट्स को स्पेयर पार्ट भी बेचा करते थे ।

दो साल बाद मस्क को स्कोलरशिप मिली । उन्होंने युनिवेर्सिटी ऑफ़ पेनेसिलेवेनिया से अपनी पढ़ाई जारी रखी । वहां उन्होंने इकोनोमिक्स और फिजिक्स दोनों की पढाई की । पेनेसिल्वेनिया युनिवेर्सिटी में मस्क लंच के दौरान अपने दोस्तों से फिजिक्स पर डिसकसन किया करते । उन्होंने और उनके खास दोस्त ने मिलकर एक घर किराए पर लिया । इस घर में वे वाइल्ड पार्टीज़ रखते और जो लोग पार्टी में आते उनसे $ 5 पर हेड के हिसाब पैसा वसूलते । मस्क अपनी क्लास के लिए कई दिलचस्प बिजनेस आडियाज़ भी सोचा करते । उनका ऐसा ही एक आइडिया था ” द इम्पोर्टेस ऑफ़ बीइंग सोलर ” यानी सोलर पॉवर का महत्त्व । उन्होंने दावा किया कि आने वाले समय में सोलर पॉवर टेक्नोलोजी के फील्ड में तेजी आएगी और बड़े – बड़े सोलर प्लांट सिस्टम लगाए जायेंगे । उन्होंने सोलर सेल्स और ऐसे कम्पाउंड के बारे में बताया जो पॉवर को ज्यादा से ज्यादा बड़ा सकते है । उन्होंने अल्ट्रा- केपेसिटर्स के बारे में भी एक पेपर लिखा था जिसमे बताया गया कि ये एक प्रकार की बेटी सेल्स है जो बड़ी तादाद में एनेर्जी स्टोर कर सकती है । इन्हें रीचार्ज किया जा सकता है और बाकी केपेसिटर्स के मुकाबले ये 100 गुना ज्यादा पॉवर दे सकती है । मस्क ने तभी इलेक्ट्रिक कार और रॉकेट्स के बारे में सोच लिया था ।

उनके प्रोफेसर्स ने उनके इस लाजवाब एनालिसिस की तारीफ की थी । मस्क हर तरह की मुश्किल से मुश्किल फिजिक्स कॉन्सेप्ट्स का हल ढूंढ लेते थे । उन्हें ये भी मालूम होता था कि इससे अच्छा प्रॉफिट कैसे कमाया जाता है । कॉलेज खत्म होने के बाद उनके दिमाग में पहले वीडियोगेम्स बनाने का ख्याल आया । मगर मस्क अपने लिए एक ऐसा करियर चाहते थे जिससे वे पूरी दुनिया में एक बड़ा बदलाव ला सके । वे अक्सर स्पेस , रीन्युयेब्ल एनर्जी और इन्टरनेट के सपने देखा करते थे । उन्हें यकीन था कि आने वाला कल इन्ही का होगा । भविष्य में एक बड़ा बदलाव आने वाला था और इसी में उनको प्रॉफिट दिख रहा था । सिलिकोन वैली फ़ोटोज़ शेयर करने में बीजी था और मस्क दुनिया को विनाश से बचाने की तैयारी कर रहे थे ।
एलन का पहला स्टार्टअप

साल 1994 में किम्बल और एलन ने कई रोड ट्रिप्स साथ की । उन दोनों के दिमाग में इन्टरनेट के बिजनेस का आडिया था । फिर आखिरकार मस्क सिलिकोन वैली में बतौर इंटर्न काम करने लगे । और जब उन्होंने स्कूल खत्म किया तो किम्बल के साथ मिलकर उन्होंने अपनी कम्पनी स्टार्ट की । ज़िप -2 येल्लो पेजेस ( yellowpages ) का ऑनलाइन वेर्जन है । इसमें सभी बिजनेस एस्टब्लीशमेंट के मेप और उनकी जानकारी दी हुई है । एलन इसके लिए वेबसाइट कोडिंग करते थे और किम्बल उन साइट्स को बेचने का । किम्बल डोर – टू – डोर सेल किया करते थे । मगर ज़्यादातर बिजनेसमेन को पता नहीं था कि ज़िप 2 आखिर है क्या ? उन्हें कपनी कंपनी के लिए इन्वेस्टर ढूँढने में बहुत मशक्कत करनी पड़ी । आखिरकार एक Investor ने उनके काम में रूचि ली और $ 3 मिलियन का इन्वेस्ट किया । ज़िप -2 ने न्यूजपेपर क्लासीफाइड एड देने शुरू किये । हालांकि कंपनी चल पड़ी और तरक्की करने लगी मगर एलन को मेनेजमेंट से निकाल दिया गया । वे अब चीफ टेक्नीकल ऑफिसर थे । ज़िप 2 का अब एक बड़ा सा ऑफिस था और कंपनी ने कोड्स की क्वालिटी बेहतर बनाने के लिए कई प्रोग्रामर्स भी रख लिए थे । साल 1998 में $ 300 मिलियन की डील के साथ zip – 2 सिटी – सर्च के साथ मर्ज हो गयी जो कि पहले उनकी कम्पटीटर थी ।

मस्क बर्दस का डॉट कॉम का आइडिया एक हकीकत में तब बदला जब 1999 में कॉम्पैक ने ज़िप -2 को खरीदा । मगर सब कुछ आसान नहीं था । एलन मस्क सीईओ बनना चाहते थे ।
पे – पाल माफिया बॉस

एक दशक बाद मस्क केनेडियन बैकपेकर से एक मल्टी – मिलेनियर बन चुके थे वो भी सिर्फ 27 साल में । वे कुल मिलाकर $ 22 मिलियन के मालिक थे । उनके पास अब एक बड़ा सा अपार्टमेंट , एक प्लेन और सपोर्ट कार थी । मस्क अपनी McLaren F ] में सिलिकोन वैली के चक्कर काटा करते । जब वे इंटर्न कर रहे थे उनके दिमाग में इन्टरनेट बैंकिंग का ख्याल आया । उन्होंने इस बारे में अपने सीनियर्स के साथ डिस्कस किया मगर उन्हें ये आइडिया जमा नहीं । ये 1990 का वक्त था , लोग उन दिनों ऑनलाइन किताबे खरीदने से कतराते थे । क्योंकि कोई भी अपना क्रेडिट कार्ड नंबर इन्टरनेट पर नहीं देना चाहता था । मस्क फिर भी अपने ऑनलाइन बैंक के आइडिया पर डटे रहे । अपने इस नए प्रोजेक्ट पर उन्होंने $ 72 मिलियन इन्वेस्ट किये । उन्होंने इस ऑनलाइन बैंकिंग साइट का नाम एक्स।कॉम ( X.COM ) रखा । उनके एक को – फाउन्डर ने कहा ” यही वो खूबी है जो एलन को बाकियों से अलग करती है ” । वे रिस्क लेकर अपनी जिम्मेदारी पर इतनी बड़ी रकम लगा रहे है और इस तरह की डील फायदा भी दे सकती है या फिर कंगाल भी कर सकती है ।

Loading...

ज़िप -2 एक साफ – सुथरा सा प्रेक्टिल आइडिया था मगर X. कॉम ने तो बैंकिंग इंडस्ट्री को बदल कर रख दिया । मस्क इस बिजनेस में सिर्फ अपने PASSION को लेकर उतरे थे । उन्हें लगता था कि बैंकर्स का तरीका बिलकुल गलत है और वे उनसे बेहतर कुछ कर सकते है । मस्क ने ज़िप -2 को एक फायदेमदं इन्वेस्ट के रूप केपेटीलिस्ट के सामने पेश किया । लोगो को इसके बारे में यकीन दिलाने के लिए उन्होंने पॉवरफुल स्पीच दी और इंजीनियर्स को अपने साथ काम करने के लिए एनकरेज किया । एक्स.कॉम अब जायज रूप से फिनेंस सर्विस कंपनी बन गयी । इसमें बैंकिंग लाइसेस , म्यूचल फंड लाइसेंस और ऍफ़डीआइसी इंश्योरेंस ( FDIC insurance ) जैसी सुविधाए मौजूद थी । नवम्बर 1999 में साइट इन्टरनेट पर लाइव हुई । मस्क उस दिन अपने ऑफिस में पूरे 48 घंटे तक रहे क्योंकि वे चीजों को अपने सामने ही स्मूदली चलते हुए देखना चाहते थे । एक्स.कॉम ने एक क्रांतिकारी पेमेंट ईजाद किया जिसे पे – पाल नाम दिया गया । इसमें किसी को पैसे भेजने के लिए सिर्फ उसका ई – मेल एड्रेस ही काफी था । कुछ महीनों के अन्दर ही पे – पाल को 200,000 क्लाइंट्स मिल गए । पैसे के लेन – देन का ये बड़ा आसान तरीका था जबकि Banks इसी प्रोसेस में कई दिन लगा देते थे । मार्च 2000 में एक्स।कॉम अपने कॉम्पीटीटर कोनफिनिटी के साथ मर्ज हो गयी|

मस्क के पास अभी भी कंपनी के ज़्यादातर शेयर थे और कंपनी का नाम भी नहीं बदला गया । मगर फिर एक्स।कॉम और कोनफ़िनिटी की अनबन होने लगी जिसकी वजह थी दोनों का अलग कल्चर और डीसीजन मेकिंग । Employees के एक ग्रुप ने मस्क को कंपनी से बाहर करने की प्लानिंग की । मस्क के बदले वे कोनफ़िनीटी के पीटर थियेल को सीईओ बनाना चाहते थे । इस दौरान मस्क अपनी पत्नी जस्टिन के साथ हनीमून मना रहे थे । उन्हें जब इस बात का पता लगा तो उन्होंने कम्पनी को अपने फैसले पर दुबारा सोच – विचार करने की गुजारिश की । मगर तब तक बात हाथो से निकल चुकी थी । उन्हें पता चला कि कंपनी ने अपना फैसला ले चुकी थी । मस्क उस कंपनी में अपनी पॉवर खो बैठे थे जिसे उन्होंने ही शुरू किया था । जून 2007 में एक्स.कॉम पे – पाल के नाम से री – ब्रांड की गई । कंपनी एडवाइज़र के तौर पर मस्क की नौकरी सीक्योर थी । उन्होंने और पैसा इन्वेस्ट किया । अपना स्टेक बडाकर वे पे – पाल के सबसे बड़े स्टेक होल्डर बन गए । इस वक्त तक उनका डॉट.कॉम का बुखार अब उतरने लगा था । बाकी टेक कंपनीज बेचने की जल्दबाजी में लगी थी । मस्क ने बोर्ड को offers ठुकराने के लिए मना लिया था ।

पे – पाल का एनुवल रेवेन्यू बड़कर $ 240 मिलियन हो चूका था । अब ये अपने पैरो पर मजबूती से खडी कंपनी बन चुकी थी जो अब पब्लिक हो सकती थी । और तभी 2002 में पे – पाल को ई – बे से $ 715 बिलियन का ऑफर मिला । ये एक बहुत बड़ा और शानदार ऑफर था । टैक्स काटने के बाद भी मस्क पूरे $ 180 मिलियन अपने पास रख सकते थे । पे – पाल डॉट।कॉम बबल से बच मिकला था । ये सब मस्क की बिजनेस इंस्टिंक्ट और टेक्नोलोजी ट्रेंड में उनकी कुशलता का नतीजा था । 9/17 के हमले के बावजूद कंपनी ने एक सक्सेसफुल आईपीओ ( IPO ) बनाया । भले ही टेक्नोलोजी इंडस्ट्री डाउन हो गयी मगर पे – पाल एक विनर बनकर उभरा ।
स्पेस में चूहा

जून 2007 में एलन मस्क जब अपने तीसवे साल में थे , वे और उनकी पत्नी सिलिकोन वैली छोड़कर लोस एंजेल्स शिफ्ट हो गए । उनका बनाया पे – पाल एक सफल प्रोजेक्ट रहा था । अब वे अपने सपने स्पेस ट्रेवल और राकेट शिप्स पर ध्यान दे सकते थे ,। और इसके लिए लोस एंजेल्स से बढ़कर कोई और बढ़िया जगह नहीं थी क्योंकि वहां का मौसम एरोनोटिक्स लिहाज़ से अच्छा था । मस्क ने अपने जैसे ही कुछ लोग ढूंढ लिए ।। उन्होंने मार्स सोसाइटी नाम का एक ग्रुप भी ज्वाइन कर लिया था जो मार्स पर जीवन की संभावना तलाश रहा था । ट्रांसलाइफ नाम से इस ग्रुप का एक प्रोजेक्ट भी था । ये एक कैप्सूल के आकार का बनने वाला था जो अर्थ के चक्कर लागाये । और इसके व्रयू मेम्बर चूहे बनने वाले थे । मस्क ने $ 500,000 मार्स सोसाइटी और इसके प्रोजेक्ट के लिए दिए । उन्होंने सुझाव रखा कि ट्रांसलाइफ मिशन को मार्स तक ही एक्सटेंड करना चाहिए । एक दिन मस्क नासा की वेबसाईट ब्राउस कर रहे थे । उन्हें गहरी निराशा हुई क्योंकि मार्स एक्सप्लोरेशन का कहीं पर भी कोई एक्जेट शेड्यूल या पुख्ता प्लान नहीं दिया गया था । मस्क ने एरोस्पेस पर कई किताबे पढ़ी । उन्होंने राकेटशिप को प्लान करने के लिए टेलेंटेड इंजीनियर्स को अपने साथ काम पर रखा । उन्होंने कम बजट वाले रॉकेट्स का परफोर्मेस स्टडी किया । उस वक्त के रॉकेट्स सिर्फ रसियन बनाते थे ।

बोईंग और लॉक हील बहुत ज्यादा महंगे थे और बड़े से बड़े सेटेलाइट्स उठा सकते थे । मस्क इनसे कुछ सस्ते रॉकेट्स बनाना चाहते थे जो रिसर्च और कमर्शियल इस्तेमाल के लायक हो । जब ई – बे ने पे – पाल खरीदा था तो मस्क ने इस डील से सौ मिलियन डॉलर की कमाई की थी । उन्होंने ये पैसा मार्स के लिए राकेट शिप बनाने में लगा दिया । जून 2002 में स्पेस एक्सप्लोरेशन टेक्नोलोजी बनाई गई । इसमें मस्क के साथ मार्स सोसाइटी के मेम्बर और लोस एंजेल्स के वे लोग भी जुड़े जो स्पेस एन्थ्युयास्टिक थे । स्पेस एक्स ( Space – X ) को लेकर मस्क बहुत एक्साइटेड थे । हालांकि इस दौरान उनके परिवार में एक दुखद घटना घट गयी । उनकी पत्नी जस्टिन ने एक बेटे को जन्म दिया था जिसका नाम नेवेडा एलेक्जेंडर मस्क रखा गया था । लेकिन 10 दिन के अंदर ही वो बच्चा चल बसा । हुआ यूँ कि एक रात एलन और जस्टिन ने बच्चे को बिस्तर पर सुलाया । नेवेडा गहरी नीद में पीठ के बल सो गया था । जब कुछ देर बाद उसके पेरेन्टस उसे देखने गए तो उन्होंने पाया कि उसकी सांसे नहीं चल रही थी । डॉक्टरर्स इसे सडन इन्फेंट डेथ सिंड्रोम ( sudden infant death syndrome ) कहते है ।जब तक पेरामेडिक्स बुलाये गए दिमागी रूप से बच्चे की मौत हो चुकी थी।उसके दिमाग में ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं पहँच पाई थी ।

उसे तीन दिन तक लाइफ सपोर्ट पर रखा गया । बच्चा जब मरा तो जस्टिन ने उसे अपनी बांहों में पकड रखा था । वो बुरी तरह रो रही थी । मगर एलन मस्क ने कहा कि वो इस बारे में कुछ नहीं कहना चाहते है । जस्टिन को लगता था कि ये एलन मस्क का डिफेन्स मेकेनिस्म का तरीका है । जिसे उन्होंने बचपन से ही सीख लिया था । उसने कहा कि एलन सदमे में नहीं रह सकते । उनकी फितरत ही आगे बढने की है । और मुझे लगता है कि ये ही उनके सरवाइव करने का तरीका है ” । मस्क ने अपना सारा ध्यान स्पेस एक्स के राकेट लौंच में लगा दिया । अगले 5 सालो में जस्टिन जुड़वाँ बच्चो को जन्म दिया और उसके बाद ट्रिप्लेट्स को । मस्क ने कहा ” मै इस बात पर यकीन नहीं रखता कि मुझे बेहद दुखद घटानाओं के बारे में बात करनी चाहिए । क्योंकि ये किसी भी तरह हमारे भविष्य को नहीं सुधारती । अगर आपके और बच्चे और जिम्मेदारियां है तो बीती बातो पर दुखी होने से आपका और आपके अपनों का कोई भला नहीं होने वाला ” ।
एलन मस्क की यूनीफाइड थ्योरी

Loading...

राइव ब्रदर्स अपने कजन एलन मस्क के साथ साउथ अफ्रीका में पले – बड़े थे । डॉट कॉम बबल के आने से पहले उन्होंने एवरड्रीम नाम से एक सॉफ्ट वेयर कंपनी खोली थी । ये भाई अब कोई नया वेंचर ढूंढ रहे थे । मस्क ने सलाह दी कि उन्हें सोलर एनर्जी के फील्ड में कुछ करना चाहिए । उस वक्त तक सोलर पैनेल खरीदकर इंस्टाल करना ग्राहकों के लिए काफी मुश्किल काम था । और इस बात की भी कोई गारेंटी नहीं थी कि घर की छतो पर लगे सोलर पैनेल को पर्याप्त सूरज की रौशनी मिलेगी । राइव भाइयो ने 2006 में सोलर सिटी की शुरुवात की । कंपनी के पास ऐसा सॉफ्ट वेयर था जिससे पता चल सकता था कि सोलर एनर्जी सोर्स किसी भी जगह के लिए कमपेटीएबल है कि नहीं । सोलर पैनेल इंस्टाल करने के लिए सोलर सिटी के पास एम्प्लोयीज़ की एक टीम भी थी । इसके अलावा पैनेल्स को मंथली फिक्स रेट के हिसाब से किराए पर लिया जा सकता था । मस्क इस सोलर सिटी के सबसे बड़े शेयर होल्डर थे जिनके पास कम्पनी का 30 % हिस्सा था । 6 साल बाद सोलर सिटी यू.एस की सबसे बड़ी सोलर इन्स्टालर बन गयी । घरेलु इंस्टालेशन से शुरुवात करके ये अपनी सर्विसेस अब बड़ी – बड़ी कंपनीयों जैसे ताल – मार्ट और इंटेल आदि को देते थे ।

साल 2012 में सोलर सिटी एक पब्लिक कंपनी बन गयी और 2014 में इसकी नेट वर्थ $ 7 बिलियन तक पहुंच चुकी थी । मस्क ने देखा कि सिर्फ घंटे भर की सोलर एनेर्जी से दुनिया की पूरी एनेर्जी डिमांड एक साल तक पूरी की जा सकती है । इसका तरीका ये था कि बैटरी पैक्स को चार्ज रखा जाए जिन्हें रात के समय और बिजली जाने पर इस्तेमाल किया जा सके । इसके साथ ही बेहतर क्वालिटी के सोलर सेल्स का इस्तेमाल करके सूरज की रौशनी को एनेर्जी में बदला जाना चाहिए । साल 2014 में ये सब मुमकिन कर दिखाया । तीन कंपनियों ने अलग – अलग फील्ड्स में अपना शुरुवात बेहद मामूली तरीके से की । तब इन्हें कोई भी नहीं जानता था मगर ये मस्क की कड़ी मेहनत और लगन का ही फल था कि ये तीनो ही कंपनियां अपने – अपने फील्ड्स में बेहतरीन साबित हुई । साल 2025 में टेस्ला की बनाई 6 गाडिया मार्किट में आ जायेंगी । आने वाले समय में सोलर सिटी एक बहुत बड़ी यूटीलिटी कंपनी बन जाएगी । फ्यूचर में स्पेस एक्स वीकली फ्लाइट्स से हर हफ्ते कार्गो और इंसानों को स्पेस में भेज सकता है । इसके रीयुज़ेबल रॉकेट्स मून का चक्कर काटकर धरती पर वापस ठीक उसी लोकेशन पर लौट आया करेंगे जहाँ से लांच हुए थे । और मून के बाद स्पेस एक्स की अगली मंजिल होगी मार्स|

एलन मस्क की यूनीफाइड फील्ड थ्योरी ये है कि उनकी सभी कंपनियाँ एक दुसरे से रिलेटेड है । उनकी कंपनी सोलर सिटी इलेक्ट्रिक कार को रीचार्ज करने के लिए सोलर पैनेल प्रोवाइड करती है । टेस्ला बैटरी पैक्स प्रोड्यूस करती है जिन्हें सोलर सिटी बेचती है । स्पेस एक्स और टेस्ला अपने प्रोडक्ट्स के डीजाईन और मेन्यूफेक्चर पर नॉलेज शेयर करती है । तीनो ही कंपनियाँ मस्क के भविष्य के सपने को रीप्रेजेंट करती है । वे इंसानियत के लिए ऐसी एनर्जी चाहते है जो कभी ख़त्म न हो सके जिससे मानवता का विनाश होने से रोका जा सके । एलन मस्क के जीवन में कई मुश्किल घडिया आई । बचपन में उन्हे स्कूल में बहुत परेशान किया गया । उनके पिता के साथ उनका रिश्ता खटास भरा रहा । अपने पहले बच्चे की मौत का सदमा उन्हें झेलना पड़ा और उनकी पहली शादी भी टिक नहीं पाई , इस तरह उन्होंने ज़्यादातर खोया ही था । उनकी कंपनी बर्बाद होते – होते बची थी । प्रेस उनकी निजी जिंदगी और कंपनी की नाकामी को लेकर हमेशा उन्हें बदनाम करता रहा । लेकिन इस सबसे बावजूद एलन मस्क ने हार कभी नहीं मानी । वे अपने रास्ते पर चलते रहे और अपने सपने को पूरा करने की कोशिश में लगे रहे । मस्क वीकेंड्स पर भी काम करते थे और यही वे अपने एम्प्लोयीज़ से भी चाहते थे । एक ऐसा वक्त भी आया जब वे तलाक के बाद जस्टिन के साथ साऊथ अफ्रीका घूमने गए|वहां उन्हें मलेरिया हो गया और उन्हें 10 दिन तक आईसीयू में रहना पड़ा था । इस बारे में मस्क ने कहा ” मै मरते – मरते बचा हूँ , छुट्टियों के बारे में मेरा यही विचार है कि छट्टियां जानलेवा हो सकती है । ”
English Translation:-

Elon’s world was immersed in the Silicon Valley and San Francisco Depression in the year 2000 as Internet addiction began to subside. Now the era was of dot com, due to which the venture capitalists were reluctant to invest in any investment. During this period, there was only one click AIDS work left in the Silicon Valley. Twitter and Facebook had just started spreading legs. Some people believed that the technology industry had cooled down. Elon Musk was also a part of the same dot com mania. After finishing his college studies, he made Zip 2 and earned $ 22 million. Zip 2 was a software similar to Google Maps. Compec bought the Zip 2 in 1999. Musk invested this earnings to open another start-up X.com, which later became Pay-Pal. And then in 2002 Musk became richer than ever when E-Bay bought Pay Pal. Musk moved to Los Angeles instead of Silicon Valley, where he built Tesla, Space X and Solar City. His companies lead in ELECTRIC CARS, Aerospace and Solar Industries. Musk replaced the future by creating rockets, electric cars and solar panels.

Reality and science fiction are united in Elon’s world. Elon Musk is different from the rest of the technology millennials. Their thinking is worldwide.Elon Musk says “If we can find a solution to the never-ending energy and progress in the path of becoming multi-planetary species … it would be a really great thing”. Today there are thousands of people working in the Elon Musk Company, which has a net worth of $ 10 billion.
Africa:-

Musk’s maternal grandfather Joshua Heldimen used to fly his own ship from Canada to South Africa. They migrated to Pretoria forever after migrating, including their entire families, but sometimes they traveled to Norway, Scott and Australia. Maye Haldeman and Errol Musk had wanted each other since childhood. The two married when they grew up and Elon was born soon thereafter. Musk was born on June 28, 1971. His father Errol Musk was a successful engineer, while his mother Maye was a dietician. In addition to Alan, he had two children, Kimble and Tosca. Allen was just 5 years old when his ability began to show. He used to be immersed in books for hours. “The Lord of the Rings” and “The Hitchhiker’s” Guide to Galaxie “were his favorite books. He had two large sets of encyclopedia that he would read when books ended up being read. The Musk family was a happy family. They had a big house in Pretoria. But when Elon was eight, his parents divorced.

Loading...

He and his brother Kimbal lived with their father. His father was not jovial, so Elon never had a happy childhood. Elon first saw computers when he was 10 years old. He was so surprised to see that he insisted his father to buy a computer for himself. And when his father brought a computer for him, ELON learned basic programming for three whole days. Alan was extremely close to his brothers Kimble and Kazan Peter, Lendon and Ras Rive. They used to make home made rockets and exploitative with them. They all loved going on long train trips together and playing Dungeons and Dragons. But when Alan started going to school, he had different experiences. He was often bullied at school. Once they had such a tragic accident that caused them a deep shock. Elon was eating something sitting on the CDs when a boy kicked him on the head from behind and gave a loud shove. Elon fell from the CDs with this shock. After that the boy started raining Mukko on them. He was so hurt that he had to be taken to the hospital immediately. His body was stained with blood. It took him a full week to recover and only after that he was able to go to school. For four years, Elon lived in the shadow of that fear. That school scoundrel Geng used to harass Elon all the time.

Eventually he had to change his school. When Alan was 17 years old, he made up his mind to leave South Africa. He felt that he could get better opportunities for himself in America. He also loved Silicon Valley. When his family won Canada’s citizenship, Allen had a chance to escape.
Canada

In his early days in Canada, Elon Musk faced a lot of difficulties. When he left home to go to Canada, he had no where to stay. He discovered some of his relatives there and arranged for a stay. He celebrated his 18th birthday with some neighbors and relatives whom he did not even know well. During this time,Elon Musk also did some odd jobs such as bringing vegetables and cutting wood. His brother Kimble also later visited him in Canada. In 1989, Elon Musk enrolled at Queen’s University Ontario, where he met his first wife, Justin Wilson. Justin had longed for the first date but Elon Musk was no less stubborn. Justin later said that “he can make anyone crazy”. College education brought many changes in Elon Musk’s life. He still talked about space and energy, which his classmates used to make fun of. Elon Musk met people who got his ideas. In his spare time, he used to fix computers so that he would earn some extras. They also sold spare parts to their class mates.

Two years later, Elon Musk received a scholarship. He continued his studies from the University of Pennsylvania. There he studied both Economics and Physics.Elon Musk used to discuss physics with his friends during a luncheon at the University of Pennsylvania. He and his special friend rented a house together. In this house, they used to keep wild parties and used to charge $ 5 as head from those who came to the party.Elon Musk would also think of many interesting business ideas for his class. One such idea was “The Importance of Being Solar”, that is, the importance of solar power. He claimed that in the coming times, the field of solar power technology will be accelerated and large solar plant systems will be installed. He told about solar cells and such compound which can increase power as much as possible. He also wrote a paper about ultra-capacitors in which it was told that this is a type of daughter cells which can store a large amount of energy. They can be recharged and can give 100 times more power than other capacitors.Elon Musk then thought of electric cars and rockets.

His professors praised this wonderful analysis. Musk used to find solutions to all kinds of difficult physics concepts.He also knew how to earn a good profit from it.After college was over, he had the idea to create the first videogames. But Elon Musk wanted a career for himself that would bring him a big change in the whole world. He often dreamed of space, renewable energy and the Internet.He was sure that it would be his tomorrow.A big change was going to come in the future and in this he was seeing profit. Silicon Valley was busy sharing photos and Elon Musk was preparing to save the world from destruction.
Elon’s first start-up:-

In 1994, Kimble and Elon did several road trips. They both had the idea of internet business. Then finally Musk started working as an intern in Silicon Valley. And when he finished school, he started his own company together with Kimbal. ZIP-2 is the online version of yellow pages. In this, the map of all business establishments and their information is given. Elon used to do website coding for this and Kimble used to sell those sites. Kimble used to sell door-to-door. But most of the businessmen did not know that ZIP 2 is what? He had to work hard to find an investor for the company. Eventually an Investor took an interest in his work and invested $ 3 million. ZIP-2 started offering classified ads. Although the company started running and progressing, Elon was fired from the management. He was now the Chief Technical Officer. Zip 2 now had a large office and the company also hired several programmers to improve the quality of the codes. In 1998, a $ 300 million deal merged with zip – 2 city – search, which was previously their competitor.

Loading...

Musk Burdus.com’s idea changed to a reality when Compaq bought the Zip-2 in 1999. But everything was not easy. Elon Musk wanted to become CEO.
Pay Pal Mafia Boss:-

A decade later, Musk had become a multi-millennial from the Canadian backpacker in just 27 years. He was the owner of a total of $ 22 million. He now owned a large apartment, a plane and a support car. Elon Musk used to travel around Silicon Valley in his McLaren F]. While he was interning, he thought about internet banking. He discuses this with his seniors but he does not submit this idea.It was the 1990s, people used to shy away from buying books online in those days. Because nobody wanted to give their credit card number on the internet.Elon Musk still stuck to the idea of his online bank. He invested $ 72 million on his new project. He named this online banking site X.COM (X.COM). One of his co-founders said “This is the quality that sets Alan apart from the rest”. They are putting such a huge amount on their responsibility by taking the risk and this kind of deal can either benefit or even pauper.

ZIP-2 was a neat and practical idea but X.Com changed the banking industry.Elon Musk had landed in this business only with his PASSION. They felt that the bankers’ method was totally wrong and they could do better than them. Musk presented the ZIP-2 as a profitable investment to the capitalist. To convince the people about this, he gave a powerful speech and encased the engineers to work with him. X.Com is now justifiably becoming a finance service company. Facilities like banking licenses, mutual fund license and FDIC insurance (FDIC insurance) were present in it. The site went live on the internet in November 1999.Elon Musk stayed in his office that day for a full 48 hours because he wanted to see things moving smoothly in front of him. X.Com devised a revolutionary payment named Pay-Pal. In this, only his e-mail address was enough to send money to someone. Within a few months, Pay-Pal got 200,000 clients. This was a very easy way of transacting money, whereas banks used to spend many days in this process. In March 2000, X.Com merged with its competitor confinity.

Musk still held most of the company’s shares and the name of the company was also not changed. But then there was a rift between X.Com and Confinity due to the different culture and decision making of the two.A group of employees planned to move Elon Musk out of the company. Instead of Elon Musk, he wanted to make Peter Thiele of the Confinity CEO. During this time, Musk was having a honeymoon with his wife Justin. When he came to know about this, he requested the company to rethink his decision. But by then the matter had gone out of hand. He came to know that the company had taken its decision. Elon Musk lost his power in the company he had started. In June 2007, X.Com was re-branded as Pay-Pal. Musk’s job was Secure as a company advisor. He invested more money. He became the biggest stealer of Pay Pal after growing his steak. By this time, his dot.com fever had started coming down. The rest of the tech companies were in a hurry to sell. Elon Musk had convinced the board to decline the offers.

Pay-Pal’s annual revenue had grown to $ 240 million.Now it had become a firm company firmly on its foot, which could now go public. And then in 2002, Pay Pal received a $ 715 billion offer from e-bay. This was a huge and great offer.Elon Musk could retain the entire $ 180 million even after deducting tax. Pay-pal.com survived the bubble.All of this was a result of his skill in Musk’s business instincts and technology trends. Despite the 9/17 attack, the company formed a successful IPO.Even though the technology industry went down, Pay Pal emerged as a winner.
Mouse in space

In June 2007, when Elon Musk was in his thirties, he and his wife left Silicon Valley and moved to Los Angeles. His made Pay-Pal was a successful project. Now he could concentrate on his dream space travel and rocket ships. And there was no better place than Los Angeles for this because the weather was good in terms of aeronautics.Elon Musk found some people just like him. He had also joined a group called Mars Society which was exploring the possibility of life on Mars. The group also had a project called TransLife. It was going to be shaped like a capsule that revolved around Earth. And its vue members were going to be rats.Elon Musk gave $ 500,000 to the Mars Society and its project. He suggested that the TransLife mission should be extended only to Mars. One day Musk was browsing NASA’s website. He was deeply disappointed because nowhere was an exit schedule or concrete plan of Mars Exploration given. Musk read several books on aerospace. He hired Talented Engineers with him to plan the rocketship. He performed a performance study of low budget rockets. Rockets of the time used to make only Russian.

Loading...

Boing and lock heels were very expensive and could carry the largest satellites.Elon Musk wanted to make some cheap rockets that would be worth research and commercial use.When E-Bay bought PayPal, Musk earned a hundred million dollars from the deal. He invested this money to build rocket ships for Mars.In June 2002, Space Exploration Technology was created.Elon Musk also included members of the Mars Society and people from Los Angeles who were space anthropologists. Elon Musk was very excited about Space X. However, during this time a sad incident happened in his family. His wife, Justin, gave birth to a son, named Nevada Alexander Musk.But that child died within 10 days. It happened that one night Elon and Justin put the baby to bed. Nevada fell asleep on his back in deep sleep. When his parents went to see him after some time, they found that he was not breathing. Doctors call it sudden infant death syndrome. By the time the paramedics were called, the brain had already died.The supply of oxygen could not reach his mind.

He was put on life support for three days. When the child died, Justin held him in his arms. She was crying badly. But Elon Musk said that he did not want to say anything about it. Justin thought that this was Elon Musk’s way of defining mechanisms. Which he had learned since childhood. He said that Alan could not live in shock. Their nature is only to move forward. And I think that is the way to serve them “. Musk turns his attention to Rocket Launch of Space X. In the next 5 years Justin gives birth to twins and then to triplets. Musk says” I I do not believe that I should talk about very sad subtractions. Because it does not improve our future in any way. If you have more children and responsibilities, then you and your loved ones are not going to get any better due to unhappiness over the past.
Elon Musk’s Unified Theory

The Rive Brothers grew up in South Africa with their cousin Elon Musk. Before the dot-com bubble came up, he opened a soft ware company called Everdream. These brothers were now looking for a new venture. Musk suggested that he should do something in the field of solar energy. Till then, buying and installing solar panels was difficult for customers. And there was no guarantee that the solar panel on the roof of the house would get enough sunlight. Rive Bhaiyo started Solar City in 2006. The company had such soft ware that could know whether solar energy source is competitive for any place. Solar City also had a team of employees to install the solar panel. Apart from this, the panels could be hired at the monthly fix rate. Elon Musk was the largest shareholder in the Solar City holding 30% of the company. Six years later, Solar City became the largest solar installer in the US. Starting with the domestic installation, they used to give their services to big companies like Tal-Mart and Intel etc.

In 2012, Solar City became a public company and in 2014 its net worth had reached $ 7 billion. Musk observed that the entire energy demand of the world can be fulfilled for one year with just one hour of solar energy. The way to do this was to keep the battery packs charged which could be used at night and when the electricity went out. Also, using better quality solar cells, the sun’s light should be converted into energy.This was possible in the year 2014. The three companies started in different fields in a very modest way. Nobody knew them then but it was the result of Elon Musk’s hard work and dedication that these three companies proved to be the best in their fields. In 2025, 6 vehicles made by Tesla will come in the market. In the coming years, Solar City will become a very large utility company. Space X Weekly Flights in the Future can send cargo and humans to space every week. Its reusable rockets will travel around the moon and return to Earth at the exact location from which they were launched. And Mars will be the next floor of Space X after the Moon.

Elon Musk’s Unified Field Theory is that all his companies are related to each other. His company provides solar panels to recharge solar city electric cars. Tesla produces battery packs that are sold by Solar City. Space X and Tesla share knowledge on the design and manufacturing of its products. All three companies represent Musk’s future dreams. They want such energy for humanity, which can never end, so that the destruction of humanity can be prevented.Elon Musk’s life saw many difficult moments. As a child, he was harassed in school. His relationship with his father was bitter. He had to suffer the shock of his first child’s death and his first marriage could not last, thus he had lost most of it. His company was left in ruin. The press always maligned him for his personal life and the company’s failure. But despite all this, Elon Musk never gave up. He continued on his way and kept trying to fulfill his dream. Musk also worked on weekends and this is what he wanted from his employees. There was a time when he went to South Africa with Justin after his divorce.

There he developed malaria and had to stay in the ICU for 10 days.Elon Musk said about this “I am left dying, my view of the holidays is that the hives can be fatal.”

Loading...

Leave a Reply