Rising Strong Book Review In Hindi by Brene Brown

Rising Strong Book Review In Hindi by Brene Brown
Rising Strong

ब्रेने ब्राउन एक ऑथर , प्रोफेसर और रिसर्चर हैं . उन्होंने सोशल वर्क में पीएचडी की है . उन्होंने अपना पूरा जीवन सहानुभूति , बहादुरी और वल्नेरेबिलिटी को स्टडी करने में समर्पित कर दिया . ब्रेने ने पांच बेस्ट सेलिंग बुक्स लिखीं हैं . YouTube पर उसकी TED Talk 12 मिलियन से ज़्यादा बार देखी जा चुकी है!

आज भी वो अपनी वेबसाइट , पॉडकास्ट और लेक्चर के ज़रिए लोगों की मदद करने में लगी हुई हैं!हारना किसी को भी अच्छा नहीं लगता . फेलियर आपके सेल्फ़ – कांफिडेंस को चकनाचूर कर सकता है और आपके द्वारा लिए गए छोटे से छोटे फैसले पर डाउट क्रिएट कर सकता है . अगर ये आपके साथ हो रहा है या हो चुका है तो आपकी मदद करने के लिए ये बुक आपकी सबसे अच्छी दोस्त साबित होगी . ये आपको फेलियर के से ट्राय करने के लिए encourage करेगी . ये आपको मज़बूती से दोबारा खड़ा होना सिखाएगी!

इंट्रोडक्शन

क्या आपने कभी अपनी जिंदगी में किसी ऐसे चैलेंज का सामना किया है जिसमें आप फेल हो गए हों और जिसने आपको बहुत लंबे समय तक दुखी कर दिया था ? क्या उस फेलियर ने आपके आत्म सम्मान , दूसरों के साथ आपके रिश्ते या अपने खुद के साथ आपके रिश्ते को चोट पहुंचाई थी ? कोई भी फेलियर या लाइफ का लो फ़ेज़ किसी भी इंसान के लिए एक depressing पॉइंट हो सकता है!

आपकी लाइफ में कई बार ऐसा भी हो सकता है जब आपने सही काम करने में अपना सारा समय और एनर्जी लगा दी होगी और जमकर कड़ी मेहनत की होगी लेकिन वो सब अंत में waste हो जाता है और आपको उसका कोई भी रिजल्ट नहीं मिलता जिससे आप बिलकुल निराश हो जाते हैं . ऐसा भी हो सकता है कि आप फ़िर कभी कुछ भी ट्राय ना करने की कसम खा लें . जब आपको एक के बाद एक फेलियर का सामना करना पड़ता है तो संभलना काफ़ी मुश्किल लगने लगता है . आप ख़ुद पर ही सवाल उठाने लगते हैं और डर के सामने घुटने टेकने लगते हैं!

ये बुक आपको याद दिलाएगी कि आप अकेले नहीं हैं . इस पूरी दुनिया में ऐसा एक भी इंसान नहीं है जो ये कह सके कि लाइफ में हमेशा उसके साथ सिर्फ़ अच्छा ही हुआ है|इस बुक की मदद से आप सीखेंगे कि फेलियर और हार के बाद आप कैसे दोबारा मज़बूती के साथ खड़े हो सकते हैं और इसे ही बुक की ऑथर ब्रेने राइजिंग स्ट्रोंग कहती हैं . इसके ज़रिए उन्होंने ये समझाने की कोशिश की है कि जब आप हिम्मत कर अपने सपने की ओर क़दम बढ़ाते हैं तो आपको उस रास्ते में फेलियर का सामना भी करना होगा और जब आपको ठोकर लगती है तो उससे कैसे उभरना है और कैसे दोबारा खड़े होना है इसे ही राइजिंग स्ट्रोंग कहा जाता है!

इस प्रोसेस के तीन स्टेज होते हैं – reckoning , rumble और revolution . बहादुर होने का मतलब ही है ट्राय करना , फेल होना , हिम्मत कर दोबारा खड़े होना और एक बार फिर से ट्राय करना|फाइनली अगर आप इस समरी के एन्ड तक पहुंच गए है तो Congratulation बहुत ही कम लोग होते है जो नॉलेज के ऊपर टाइम इन्वेस्ट करते है वार्ना आप कही और भी तो टाइम वेस्ट कर सकते थे! यदि आप पूरी संमरी चाहते हैं तो कॉमेंट बॉक्स में हमे बताये।

Loading...

Leave a Reply